नई दिल्ली, जेएनएन। भारतीय टेस्ट टीम के बल्लेबाज चेतेश्वर पुजारा ने उनकी बल्लेबाजी को बोरिंग और धीमा कहने वालों को करारा जवाब दिया है। पुजारा ने साफ कहा कि वो सिर्फ अपनी टीम की जीत के लिए खेलते हैं। जो लोग उनकी बल्लेबाजी को बोरिंग कहते हैं उन्हें टेस्ट क्रिकेट की समझ ही नहीं। मेरा लक्ष्य टीम को जीत दिलाना है किसी का मनोरंजन करना नहीं।

इंडियन एक्सप्रेस से पुजारा ने अपनी बल्लेबाजी पर बात की। उन्होंने साफ कहा वो टेस्ट मैच में बल्लेबाजी करते हैं और उनको बोरिंग बोलने वालों को टेस्ट की समझ नहीं है। “आप सोशल मीडिया के लिए बल्लेबाजी नहीं कर सकते हैं। उनमें से बहुत सारे लोग तो ऐसे हैं जो मेरे खेल और टेस्ट क्रिकेट को समझते भी नहीं। यार ये तो बहुत बोर कर रहा है, कितने बॉल खेल रहा है।”

न्यूजीलैंड में सीरीज खेलकर लौटने के तुरंत बाद ही पुजारा अपने घरेलू टीम सौराष्ट्र की तरफ से रणजी फाइनल में खेलने उतरे थे। तबीयत खराब होने के बाद भी उन्होंने पहला पारी में बल्लेबाजी करते हुए अर्धशतक बनाया और टीम को बड़े स्कोर तक पहुंचाया। सौराष्ट्र ने बंगाल को हराकर पहली बार रणजी ट्रॉफी का खिताब जीतने में कामयाबी हासिल की।

“आप एक बात समझिए, मेरा लक्ष्य किसी का दिल बहलाना करना नहीं है, मेरा लक्ष्य अपनी टीम के लिए जीत हासिल करना है फिर चाहे वो भारत हो या सौराष्ट्र। किसी दिन मैं तेज बल्लेबाजी करता हूं तो कभी धीमा खेलता हूं। मैं क्रिकेट से प्यार करने वालों और भीड़ का सम्मान करता हूं। मैं वो नहीं जो छक्के लगा सकता है।

उन्होंने बताया कि जब भी मैच में वो खेलते हैं तो सोशल मीडिया पर नहीं जाते। उनका ध्यान खेल पर रहता है ऐसा चीजों से ध्यान भटक सकता है। उन्होंने कहा, “मैं सोशल मीडिया से बचने करने की कोशिश करता हूं। जब मैं खेल रहा हूं तो सोशल मीडिया को फॉलो नहीं करता। मैं मनोरंजन करने के लिए बल्लेबाजी नहीं करता हूं।”